symposium cum felicitation programme

दिनांक 1 अगस्त 2021 को छात्रों के प्रति शिक्षकों और अभिभावकों का अधिकार और दायित्व” विषय पर जे• टी• फाउंडेशन के द्वारा मुंगेर स्थित शाह फैमिली भवन में एक संगोषठी सह अभिनंदन कार्यक्रम  का आयोजन किया गया, जिसकी अध्यक्षता जे0 आर0 एस0 कॉलेज के प्राचार्य प्रोफेसर देवराज सुमन ने की।

जे0 टी0 फाउंडेशन अध्यक्ष ने सभी अतिथियों का सम्मान अंगवस्त्र तथा पौधा दे कर किये। संस्था प्रत्येक वर्ष वृक्षारोपण कार्यक्रम कर जागरूकता लाने की भरपूर कोशिश करते आरहे है ।अध्यक्ष ने विषय परिचय कराते हुए कहा कि शिक्षक भी एक अभिभावक है वो दोहरी भूमिका को अच्छी तरह समझते है। समाज निर्माण में शिक्षकों की अहम भूमिका होती है। प्रोफेसर देवराज सुमन ने कहा कि हम कॉलेज में छात्रों को हर सुबिधा उपलब्ध कराने का हर सम्भब कोशिश करते है साथ ही साथ उन्होंने ये भी कहा कि जिन छात्रों को किताबों की ज़रूरत है उन्हें किताब मुफ्त में देंगे और कॉलेज के प्रोफेससोरो द्वारा एक्स्ट्रा गाइड भी करबायेंगे। उन्होंने अभिभावकों  से अनुरिध करते हुए कहा कि वो सिर्फ नामांकन से समय ही नज़र आते है वांकी पूरे सेशन नज़र नही आते है। अभिभावकों को भी कॉलेज आना चाहिए। इंस्पेक्टर ऑफ कॉलेज, मुंगेर यूनिवर्सिटी मुंगेर डा0 बी0 सी0 पांडे जी ने अभिभावक और शिक्षकों के बीच के रिश्ते को बहुत ही सरल तरीके से समझने की बेहतरीन कोशिश की। उन्होंने प्रोफेससोरो से अपील की है कॉलेज के बाहर अगर वो पड़ते है तो फ्री में पढाये, ये एक नैतिक जिम्मेदारी समझे। इससे होने बाले फायदे बहुत ही तरीके से प्रोफेआओरों को बताने की कोशिश की। बी0 आर0 एम0 कॉलेज की प्राचार्या प्रोफेसर ककनचं गुप्ता ने कहा कि कोई भी छात्र पैसे की बजह से पढ़ाई न छोड़े ऐसी मेरी कोशिश रहती है। बहुत सारे छात्रवृति है

जो छात्रो को पढ़ने के लिए दिए जाते है, मैं छात्राओ तक पहुंचने की हर सम्भब कोशिश करती हूं। और अभिभावकों से अनुरोध है कि वो भी बच्चो के साथ कॉलेज आये और जानकारी ले कि  उनके बच्चे क्या प्रोग्रेस कर रहे है।प्रोफेसर स्याम कुमार ने बताया कि वो BPSC की तैयारियों के लिए अभी फ्री ऑनलाइन क्लास चला रहे है, जो छात्र सामिल होना चाहते है हो सकते है।

प्रोफेसर वंदना कुमारी ने कहा कि वो शिक्षक के साथ साथेक माँ भी है इसलिए वो ये ज़िम्मेदारी भली भांति जानती है की बच्चो की शिक्षा अभिभावक की भूमिका उतनी ही ज़रूरी है जितना कि एक शिक्षक की। नैतिक शिक्षा बचें माता-पिता से ही सीखते है। इस लिए ज़रूरी है कि माता-पिया को बच्चो के सामने सच और अच्छी बातें करनी चाहिए।

प्रोफेसर अभय कुमार ने उच्य शिक्षा पर ज़ोर देते हुए कहा कि छात्रों को अपना लक्ष्य सुनिश्चित करना चाहिए। उच्य शिक्षा के लिए सही मार्गदर्शन का होना ज़रूरी है। हम सब प्रोफेसर हर समय तैयार रहते है। बी0 आर0 एम0 कॉलेज के आचार्य डा0 संदीप, डा0 रोहित कुमार ने भी अपनी अपनी बातों से सभी को लाभान्वित किये।

अंत मे अध्यक्ष द्वारा होनहार छात्रो को उपहार दे कर आशिर्वाद दिए। और संकल्प लिए कि हम सब शिक्षा के प्रति हमेशा जागरूक रहेंगे। और समाज के निचले अस्तर तक शिक्षा का दीप जलाये गे। मंच संचालन संस्था सचिव फ़र्राह शकेब ने की।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s